जानिए कैसे लगती है मेहंदीपुर बालाजी में अर्जी और अर्जी लगाने का तरीका

जानिए कैसे लगती है मेहंदीपुर बालाजी में अर्जी और अर्जी लगाने का तरीका

कैसे लगती है मेहंदीपुर बालाजी में अर्जी और अर्जी लगाने का तरीका, अर्जी लगाने का समय,कहां मिलती है अर्जी,क्या होता है अर्जी में ?

Continue reading


Procedure To Purchase A Property Till Construction In Hindi

Procedure To Purchase A Property Till Construction In Hindi

Procedure To Purchase A Property Till Construction In Hindi किसी भी प्लॉट को खरीदने से लेकर उस पर कंस्ट्रक्शन करने तक का पूरा प्रोसीजर क्या है ? सबसे पहले आपको अपनी जरूरत के हिसाब से एक प्लॉट फ़ाइनल करना होगा। ये आप दो तरीकों से कर सकते हैं। इसके लिए या तो आप प्रत्यक्ष रूप […]

Continue reading


जीवन को उत्सव की तरह जीना सिखाते श्री कृष्ण

जीवन को उत्सव की तरह जीना सिखाते श्री कृष्ण

  यूं तनाव और माथे पर शिकन लेकर जीना भी कोई जीना है। कृष्ण को समझने और जानने का रास्ता भी तो यही है। कृष्ण ने अपने पूरे जीवन में हमेशा धर्म की स्थापना यानी जीवन जीने के सदाचारी तरीके की बात कही, फिर भी तमाम परंपराओं, धार्मिक रीति रिवाजों और हजारों साल पुरानी परिपाटी […]

Continue reading


मेहंदीपुर बालाजी महाराज की पूजा कैसे करें ?

मेहंदीपुर बालाजी महाराज की पूजा कैसे करें ?

बालाजी महाराज की दैनिक पूजा कैसे की जाती है ? बालाजी महाराज की पूजा सुबह के समय कितने बजे करनी चाहिए ? बालाजी महाराज की पूजा में दीपक किस तैल या घी का जलाना चाहिए ? आपके घर के मंदिर या पूजा घर मे कौन से रंग का कपड़ा बिछाना चाहिए ? बालाजी महाराज की […]

Continue reading


पूनरासर बालाजी धाम मंदिर – राजस्थान के बीकानेर का एक उत्कृष्ट हनुमान मंदिर

पूनरासर बालाजी धाम मंदिर

हमारी संस्कृति में ईश – वन्दना की परम्परा सदियों से चली आ रही है। इसी परंपरा से जुड़ा है मंदिर निर्माण का इतिहास । कहीं अपने परम भक्त को भगवान् ने सपने में मंदिर बनाने के निर्देश दिए तो कहीं अपने विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा कर छोटा सा मंदिर बनाने के आदेश भगवान् ने अपने […]

Continue reading


बालाजी महाराज श्री राम के सेवक थे या सीता के ?

बालाजी महाराज किसके सेवक थे राम जी के या सीता जी के ?

एक दिन की बात है श्री रामचन्द्र जी और सीता जी बैठे हुए थे। आपस में बातें हो रही थी। बालाजी महाराज की चर्चा छिड़ी तो श्री राम जी ने कहा – “हनुमान मेरा बड़ा भक्त है।” सीता जी ने कहा – “अजी वाह! आपने यह कैसे जाना ? वह तो मेरा भक्त है।” श्री […]

Continue reading